प्रकाश एवं प्रकाश यन्त्र : कक्षा 8 विज्ञान पाठ 12

up board solutions class 8

Solution for SCERT UP Board book आओ समझें विज्ञान ( विज्ञान भारती III ) कक्षा 8 पाठ 12 प्रकाश एवं प्रकाश यन्त्र solution pdf. If you have query regarding Class 8 Aao samjhe vigyan Vigyan bharti III chapter 12 Prakash avn Prakash Yantra, please drop a comment below.

प्रकाश एवं प्रकाश यन्त्र

Exercise ( अभ्यास )

1- दिए गए विकल्पों में सही विकल्प चुनिए –

क.मानव नेत्र किसी वस्तु का प्रतिबिंब बनाता है –
अ. कॉर्निया पर
ब. आइरिस पर
स. पुतली पर
द. रेटिना पर (✔️)

ख. सामान्य नेत्र के लिए निकट बिंदु की दूरी है –
अ. 25 मीटर
ब. 2.5 मीटर
स. 25 सेमी (✔️)
द. 2.5 सेमी

ग. स्वेत प्रकाश जब प्रिज्म से होकर गुजरता है तो प्रिज्म के आधार की ओर प्राप्त रंग होता है l
अ. लाल
ब. पीला
स. बैगनी (✔️)
द. हरा

घ. उत्तल लेंस की फोकस बिंदु तथा प्रकाशीय केंद्र के बीच रखी वस्तु का प्रतिबिंब होगा –
अ. आभासी, बडा व सीधा (✔️)
ब. आभासी, सीधा व बड़ा
स. आभासी , सीधा व छोटा
द. आभासी, उल्टा व बड़ा

ड.अवतल लेंस बने किसी वस्तु का बना प्रतिबिंब होता है-
अ. आभासी, उल्टा व छोटा
ब. आभासी , सीधा व बड़ा
स. आभासी , सीधा व छोटा (✔️)
द. आभासी, उल्टा व बडा

2- निम्नलिखित कथनों में से सही कथन पर सही (✔️) और गलत कथन पर गलत (❌️) का चिन्ह लगाइए-

क. उत्तल लेंस द्वारा दूर की वस्तु का प्रतिबिंब वास्तविक एवं उल्टा बनता है l (✔️)
ख. प्रिज्म से अपवर्तन के पश्चात निर्गत किरण आपतित किरण के समांतर होती हैं l (❌️)
ग. अवतल लेंस से कभी वास्तविक और कभी आभासी प्रतिबिंब बनता है l (❌️)
घ. अपवर्तन की घटना में आपतन कोण, अपवर्तन कोण के बराबर होता है l (❌️)

3- रिक्त स्थानों की पूर्ति अपनी अभ्यास पुस्तिका में कीजिए –

क. सरल सूक्ष्मदर्शी में — उत्तल — लेंस प्रयोग होता है l
ख. दूर की वस्तुओं को देखने के लिए — दूरदर्शी — का प्रयोग किया जाता है l
ग. खून की जांच के लिए — सूक्ष्मदर्शी — का प्रयोग होता है l
घ. निकट दृष्टि दोष के निवारण हेतु चश्मे में — अवतल लेंस — प्रयोग होता है l

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिए –

प्रश्न – 4. प्रकाश का अपवर्तन किसे कहते हैं प्रकाश के अपवर्तन संबंधित नियमों को लिखिए |

उत्तर – जब प्रकाश की किरण जब एक समांगी पारदर्शी माध्यम से दूसरे समांगी पारदर्शी माध्यम में तिरछा प्रवेश करती है तो वह दोनों माध्यमों को अलग करने वाले पृष्ठ पर मुड़ जाती है | इस घटना को प्रकाश का अपवर्तन कहते हैं l
प्रकाश के अपवर्तन संबंधित दो नियमों का पालन होता हैl

  1. आपतित किरण, अपवर्तित किरण तथा अपवर्तक पृष्ठ के आपतन बिंदु पर डाला गया अभिलंब तीनों एक ही तल में स्थित होते हैं l
  2. किसी पारदर्शी माध्यम युग्म के लिए आपतन कोण की ज्या (sine ) तथा आपवर्तन कोण के ज्या (sine ) का अनुपात नियत होता है l इस नियम को स्नैल का नियम भी कहते हैं l

प्रश्न -5. अपवर्तनांक की परिभाषा माध्यम में प्रकाश की चाल के पदों में लिखिए |

उत्तर - किसी माध्यम का अपवर्तनांक (n)
      = निर्वात में प्रकाश की चाल / माध्यम में प्रकाश की चाल
यदि निर्वात में प्रकाश की चाल (C ) तथा माध्यम में प्रकाश की चाल ( V ) है तो माध्यम का
निरपेक्ष अपवर्तनांक [n= C / V ] 1
अपवर्तनांक एक अनुपात है अतः इसका कोई मात्रक नहीं होता है l

प्रश्न – 6. उचित किरण आरेख इससे हुए उत्तल लेंस तथा अवतल लेंस की फोकस दूरी की परिभाषा लिखिए |

उत्तर – अनंत दूरी पर रखी वास्तु का प्रतिबिम्ब लेंस के दूसरी ओर फोकस पर, वास्तविक, उल्टा तथा वास्तु से अत्यधिक छोटा बनता है | फोकस और प्रकाशिक केंद्र के बीच की दूरी उत्तल लेंस की फोकस दूरी कहलाती है |

इसी प्रकार अनंत पर स्थित वास्तु से आने वाली किरणें लेंस के मुख्य अक्ष के समान्तर होती हैं , अतः लेंस से अपवर्तन के पश्चात लेंस के फोकस बिंदु F से फैलती हुई प्रतीत होती हैं | इस फोकस और प्रकाशिक केंद्र के बीच की दूरीअवतल लेंस की फोकस दूरी कहलाती है |

प्रश्न – दूरदर्शी किसे कहते हैं स्वच्छ किरण आरेख खींचकर दूरदर्शी से बने प्रतिबिंब की स्थिति दर्शाइए प्रतिबिंब की प्रकृति का तथा स्थिति का भी उल्लेख कीजिए –

उत्तर – दूरदर्शी ऐसा प्रकाशिक यंत्र है जिसकी सहायता से दूर स्थित वस्तुओं को स्पष्ट देखा जा सकता है | इसमें दो उत्तल लेंस होते हैं यह लेंस एक खोखली बेलना कार्नली के दोनों सिरों पर स्थित होते हैं लेंसों के बीच की दूरी को आवश्यकतानुसार घटाया बढ़ाया जा सकता है वस्तु की ओर वाला लेंस अभिदृश्यक कहलाता है l यह बड़े द्वारक का होता है तथा नेत्र की ओर वाला लेंस ने नेत्रिका या अभिनेत्र लेंस कहलाता है l
दूरदर्शी से दूर की वस्तु का स्पष्ट एवं बड़ा प्रतिबिंब देखा जा सकता है दूर स्थित वस्तु AB का अभिदृश्यक द्वारा प्रतिबिंब A1 B2 नेत्रिका के फोकस Fe के अंदर बनता है नेत्रिका द्वारा A1 B1 का आभासी प्रतिबिंब A2 B2 बनता है l

प्रश्न – 8. नेत्र दोष किसे कहते हैं ? यह कितने प्रकार का होता है ? निकट दृष्टि दोष कैसे दूर कर सकते हैं l

उत्तर – जब मानव नेत्र के सामने स्पष्ट दृष्टि की न्यूनतम दूरी ( 25 सेमी ) पर रखी वस्तु साफ-साफ दिखाई नहीं देती तो इसे दृष्टि दोष कहते हैं या दो प्रकार का होता है l

  1. निकट दृष्टि दोष
  2. दूर दृष्टि दोष

निकट दृष्टि दोष – निकट दृष्टि दोष को दूर करने के लिए चश्मे में उचित फोकस दूरी का अवतल लेंस प्रयोग किया जाता है यह लेंस प्रकाश किरणों को अपसारित करके प्रतिबिंब को रेटिना पर बनाता है l जिससे निकट दृष्टि दोष दूर हो जाता है l

MasterJEE Online Solutions for Class-8 Science Chapter 12 प्रकाश एवं प्रकाश यन्त्र. If you have any suggestions, please send to us as your suggestions are very important to us.

CONTACT US :
IMPORTANT LINKS :
error: Content is protected !!