भाषा की आधारशिला क्रियान्वयन संदर्शिका

Adharshila Kriyanvayan Sandarshika bhasha

22 सप्ताह की आधारशिला क्रियान्वयन संदर्शिका 2022-23 (Adharshila Kriyanvayan Sandarshika Bhasha Ganit) आधारित शिक्षण योजना द्वारा कक्षा 1 से 3 तक की कक्षाओं में 1 अगस्त 2022 से शिक्षण किया जा रहा है | कक्षा 1. कक्षा 2 एवं कक्षा 3 में भाषा के तीन कालांश निर्धारित हैं | निपुण भारत संदर्शिका में प्रत्येक कालांश के लिए अलग-अलग कार्य भी निर्धारित किए गए हैं |

आधारशिला क्रियान्वयन संदर्शिका भाषा (Adharshila Kriyanvayan Sandarshika bhasha)

कक्षा 1 से 3 तक की कक्षाओं के प्रथम 3 कालांश भाषा शिक्षण के लिए रखे गए हैं | प्रथम कालांश में मौखिक भाषा विकास और सम्बंधित लेखन, द्वितीय कालांश में डिकोडिंग और कार्यपत्रक पर कार्य तथा तृतीय कालांश में पठन पर कार्य किया जाएगा |

भाषा की साप्ताहिक एवं दैनिक योजना

कक्षा 1,2 एवं 3 भाषा की आधारशिला क्रियान्वयन संदर्शिका की रूपरेखा

सप्ताह के प्रथम चार दिन

सप्ताह के प्रथम चार दिन अलग-अलग शिक्षण उद्देश्यों पर आधारित शिक्षण योजनाओं पर कार्य किया जाएगा | कक्षा 1,2 और 3 में भाषा शिक्षण के लिए तीन कालांश होंगे | प्रथम कालांश 40 मिनट का होगा, जिसमें मौखिक भाषा विकास एवं सम्बंधित लेखन पर कार्य किया जाएगा | द्वितीय कालांश 60 मिनट, जिसमें डिकोडिंग एवं कार्यपत्रकों पर कार्य होगा | तृतीय कालांश 20 मिनट, जिसमें पठन पर कार्य किया जाएगा |

कालांश 1 एवं 3 में शिक्षण योजना के अनुसार कार्य किया जाएगा | कालांश 2 में शिक्षण योजना के अनुसार डिकोडिंग पर कार्य एवं उसके उपरान्त कार्यपुस्तिका में सम्बंधित दिवस के लिए निर्धारित कार्यपत्रक पर कार्य करेंगे | तत्पश्चात ट्रेकर में चिन्हित करेंगे |

Adharshila Kriyanvayan Sandarshika bhasha

सप्ताह का पांचवा दिन

पांचवे दिन पुनरावृत्ति पर कार्य होगा, जिसमें सप्ताह के प्रथम चार दिवसों में सीखी गई दक्षताओं पर पूरी कक्षा के साथ पुनरावृत्ति की जाएगी | कालांश 1 एवं 3 में शिक्षण योजना के अनुसार कार्य किया जाएगा | कालांश 2 में पहले चार दिन सीखी गई दक्षता पर आधारित पुनरावृत्ति शिक्षण योजना के अनुरूप कार्य करेंगे | तत्पश्चात ट्रेकर में चिन्हित करेंगे |

Adharshila Kriyanvayan Sandarshika bhasha

सप्ताह का छठा दिन

छठे दिन साप्ताहिक आकलन किया जाएगा | प्रथम कालांश में शिक्षण योजना के अनुसार मौखिक भाषा विकास पर कार्य एवं दूसरे तथा तीसरे कालांश में साप्ताहिक आकलन करेंगे उसके बाद आकलन के आधार पर रेमिडियल/पुनरावृत्ति पर कार्य करेंगे | तत्पश्चात ट्रेकर में चिन्हित करेंगे |

साप्ताहिक आकलन में जो बच्चे 50% से कम अंक प्राप्त करेंगे उनको समूह 1 में रखेंगे और उनके साथ रेमेडिअल कार्य होगा | जो बच्चे 50% से अधिक अंक प्राप्त करेंगे, उनको समूह 2 में रखेंगे और उनके साथ उस सप्ताह सिखाई गई दक्षताओं पर पुनरावृत्ति अभ्यास किया जाएगा |

Adharshila Kriyanvayan Sandarshika bhasha

हर सप्ताह के अंत में प्रत्येक बच्चे की प्रगति समझने के लिए गृह कार्य हेतु एक कार्यपत्रक दिया गया है |

सावधिक आकलन (Adharshila Kriyanvayan Sandarshika bhasha)

भाषा में सभी बच्चों का सावधिक आकलन सप्ताह 9 और सप्ताह 18 में किया जाएगा | कार्यपुस्तिका में सावधिक आकलन प्रपत्र के माध्यम से सभी बच्चों के साथ पहले दो दिनों के तीनों कालांशो में सावधिक आकलन किया जाएगा |

Adharshila Kriyanvayan Sandarshika bhasha

आकलन से प्राप्त परिणामों को शिक्षक संदर्शिका के सावधिक आकलन ट्रेकर-1 के डिकोडिंग वाले कॉलम में भरें और समूह निर्धारण करें | समूह-1 के बच्चों के नाम पर गोला लगाएं | सावधिक आकलन के बाद सावधिक पुनरावृत्ति के लिए निर्धारित पाठ (कार्यपुस्तिका में दिए गए हैं) पर कार्य करें |

डिकोडिंग से सम्बंधित पुनरावृत्ति का कार्य कर रहे होंगे उन दिनों में प्रथम कालांश में मौखिक भाषा की दक्षता का आकलन करना है | आकलन से प्राप्त परिणामों को संदर्शिका के सावधिक आकलन ट्रेकर-1 के मौखिक भाषा वाले कॉलम में भरें | जो बच्चे दक्षता प्राप्त कर लें उनके नाम के आगे सही का निशान लगाएं और जिन बच्चों ने दक्षता प्राप्त नहीं की है, उनके नाम के आगे रिक्त (-) का निशान लगाएं |

Adharshila Kriyanvayan Sandarshika bhasha

आइकन एवं रंगों के संकेतक

भाषा की आधारशिला संदर्शिका में दी गई शिक्षण योजनाओं में अलग-अलग आइकन और रंगों का संकेत के रूप में उपयोग किया गया है | जिसे आप नीचे दिए गए चित्र से समझ सकते हैं |

संदर्शिका में दिए गए निर्देशों के अनुसार साप्ताहिक एवं दैनिक कार्य में प्रगति को समझने एवं दूसरों के साथ साझा करने के लिए वार्षिक ट्रैकर का उपयोग किया जाएगा |

शिक्षण योजनाओं के साथ-साथ कार्यपुस्तिकाओं पर भी कार्य किया जाना है | कार्यपुस्तिकाओं में बच्चे आसानी से समझकर कार्य कर सकें इसके लिए विभिन्न रंगों के आइकन बने हुए हैं | जो नीचे दिए गए चित्र से आप समझ सकते हैं |

स्रोत: आधारशिला क्रियान्वयन संदर्शिका भाषा 2022-23 एवं कार्यपुस्तिका (बेसिक शिक्षा परिषद उ०प्र०)

If you have any suggestions regarding nipun bharat sandarshika hindi, please send to us as your suggestions are very important to us.

CONTACT US :
IMPORTANT LINKS :
error: Content is protected !!