फसल उत्पादन भोजन : कक्षा 8 विज्ञान पाठ 10

up board solutions class 8

Solution for SCERT UP Board book आओ समझें विज्ञान (विज्ञान भारती III) कक्षा 8 पाठ 10 फसल उत्पादन भोजन solution pdf. If you have query regarding Class 8 Aao samjhe vigyan Vigyan bharti III chapter 10 Fasal Utpadan Bhojan, please drop a comment below.

फसल उत्पादन भोजन

Exercise ( अभ्यास )

1- सही विकल्प का चुनाव करके लिखिये –

क. निम्नलिखित में रवि की फसल है –
अ. धान
ब. मक्का
स. मूंगफली
द. गेहूं (✔️)

ख. निम्नलिखित में खरपतवार नाशी है –
अ. यूरिया
ब. कंपोस्ट
स. मेटाक्लोर (✔️)
द. अमोनिया फास्फेट

ग. यूरिया उर्वरक है –
अ. नाइट्रोजनी (✔️)
ब. फास्फुरी
स. पोटेशिक
द. संयुक्त

घ. साहीवाल है –
अ. गाय (✔️)
ब. भैंस
स. मछली
द. मुर्गी

2- रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिये –

क. उगाए जाने वाले एक ही किस्म के पौधे — फसल – कहलाते हैं l
ख. तरबूज खरबूजा मक्का आदि के लिए — बलुई — मिट्टी उपयुक्त है l
ग. बुआई के लिए प्रयुक्त यंत्र —डिवलर तथा बीज वेधक — है l
घ. सोनालिका — गेहूं — की उन्नत किस्म है जो संकरण के फल स्वरुप प्राप्त हुई है l
ड. काटला रोहू — अलवण — जल में पाई जाने वाली मछली है l

3- सही जोड़ी बनाइए –

    स्तंभ  ( क )         स्तंभ ( ख )

क. डिवलर    ---- स. बुवाई की विधि
ख. साइलो   ----- अ. भंडारण की विधि
ग. साहीवाल -----  द. गाय के किस्म
घ. सालमॉन  ----- ब. मछली की नस्ल
ड. व्हाइट लेग हॉर्न  र. मुर्गी की नस्ल
च. शार्क    --- य. विटामिन ए और डी का स्त्रोत

4- निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर लिखिये –

प्रश्न क. बलुई मिट्टी और चिकनी मिट्टी में क्या अंतर है ?

उत्तर – बलुई मिट्टी और चिकनी मिट्टी में यह अंतर है कि जिस मिट्टी में बालू की मात्रा अधिक होती है, उसे बलुई मिट्टी कहते हैं तथा जिस मिट्टी में बालू की मात्रा कम तथा मिट्टी के कण छोटे-छोटे कण होते हैं | उन्हें चिकनी मिट्टी कहते हैं l

प्रश्न ख. जून से अक्टूबर माह में कौन-कौन सी फसलें बोयी जाती हैं ?

उत्तर – जून से अक्टूबर माह तक बोई जाने वाली फसलें (खरीफ फसल)- चावल, मूंगफली, मक्का आदि बोये जाते हैं l

प्रश्न ग . बुआई के लिए बीज बेधक का क्या महत्व है ?

उत्तर – बीज बेधक का प्रयोग बीच की गहराई में बोए जाने के लिए होता है इसके द्वारा बीज सामान दूरी पर तथा निश्चित गहराई तक बोए जा सकते हैं, जिसके वजह से पक्षियों द्वारा बीज क्षति की संभावना होती है l

प्रश्न घ. फसल चक्रण से क्या समझते हैं ?

उत्तर – फसल की अच्छी पैदावार के लिए भूमि में सभी पोषक तत्व की पर्याप्त मात्रा अति आवश्यक है | खेत में जब एक ही फ़सल वर्ष दर वर्ष लगाई जाती है तो भूमि की उर्वरता प्रभावित होती है l इसके लिए एक फसल के बाद दूसरी विकल्पी फसल उगाने की प्रथा है जैसे – गेहूं की फसल के बाद दलहन की फसल लगाई जाती है जिससे भूमि की उर्वरता बनी रहती है | इसे फसल चक्रण कहते हैं l

प्रश्न ड. हरित क्रांति पर प्रकाश डालिए l

उत्तर – कृषि में सुधार लाने के उद्देश्य से इसके लिए प्रयास 1960 से शुरू किए गए हैं इसे हरित क्रांति कहते है l हरित क्रांति के तहत कृषि के क्षेत्रों में आधुनिक कृषि यंत्रों जैसे – ट्रैक्टर, हल, सिंचाई के साधन जैसे – टयूबवेल, उन्नत कोच के बीज, कीटनाशक दवाइयों तथा रासायनिक उर्वरकों के प्रयोग से फसल उत्पादन में पर्याप्त वृद्धि हुई l

प्रश्न च . गाय और भैंस की दो – दो उन्नत किस्मों के नाम लिखिए l

उत्तर – गाय की नस्ल – साहिवाल , होल्स्टीन l भैंस की नस्ल – मुर्रा , मेहसाना l

प्रश्न छ. ऊष्मायन काल किसे कहते हैं ??

उत्तर – मुर्गी अंडे पर बैठ कर दो से 21 दिन तक रहती है इस अवधि को ऊष्मायन काल कहते हैं इससे अंडे को नमी एवं ऊष्णता – मिलती है यह अंडे में भ्रूण के विकास एवं अंडों के स्फुटन में सहायक है l

प्रश्न – ज. अंडों की गुणवत्ता की जांच कैसे करेंगे ?

उत्तर – अंडो की गुणवत्ता की जांच – गर्म पानी से भरे पात्र में कुछ अंडे डाल दीजिए ध्यान से देखिए क्या यह तैरते रहते हैं या पानी में डूब जाते हैं जो अंडे पानी में डूब जाते हैं वह अच्छी गुणवत्ता वाले हैं तथा जो तैरते रहते हैं वह खराब अंडे हैं l

प्रश्न झ. एक कुक्कुट फार्म में पक्षियों को दिए जाने वाले आहार का वर्णन कीजिए l

उत्तर – कुक्कुट आहार में डाले हुए दाने हरी खाद सामग्री होती है गेहूं, मक्का, बाजरा , जैसे अनाजों को पीसकर इसमें कंकड़, बालू का चूरा या चूना पत्थर का चूरा मिलाते हैं कंकड़, चूना पत्थर कैल्शियम कार्बोहाइड्रेट का स्रोत होने के कारण अंडे का कवच बनने में सहायक होता है मुर्गी को जल की पर्याप्त मात्रा दी जाती है जल की मात्रा कम होने पर अंडे देने की क्षमता में कमी आती है l

प्रश्न 5.- नाइट्रोजन चक्र को चित्र की सहायता से समझाइए l

उत्तर – नाइट्रोजन सभी का खाद्य पदार्थों का एक आवश्यक अवयव है, हालांकि यह वायु में प्रचुर मात्रा लगभग 78 % उपस्थित है फिर भी पौधे इसे सीधे वायुमंडल से ग्रहण नहीं कर सकते | वायुमंडल की नाइट्रोजन को घुलनशील नाइट्रेटस में बदलले की क्रिया नाइट्रोजन स्थिरीकरण कहलाती है l पौधे नाइट्रोजन को नाइट्रेटस के रूप में निम्नलिखित विधियों द्वारा प्राप्त कर सकते है l चित्र स्वयं बनाएं l

प्रश्न 6. फसल की कटाई के लिए प्रयोग करने वाले हंसिया का चित्र बनाइए |

उत्तर – विद्यार्थी स्वयं बनाएं |

प्रश्न 7. फसलों का भंडारण किस प्रकार किया जाता है? लिखिए –

उत्तर – उपरोक्त पद्धति के द्वारा फसल उत्पादन के पश्चात उपस्थित का भंडारण एक महत्वपूर्ण चरण है जो है कीड़े तथा अन्य छोटे जीवो से उपज को बहुत नुकसान होता है | इसके लिए बड़े पैमाने पर अन्य के भंडारण के लिए उन्नत भंडारण धातुओं के बरतन, साइलो का प्रयोग किया जाता है, भंडारण में तापमान का भी ध्यान रखा जाता है | जिन खाद्य अन्न में पानी की मात्रा कम होती है जैसे – अनाज, दाल इत्यादि को कमरे के ताप पर सुरक्षित रखा जाता है फल, सब्जियों में पानी की मात्रा अधिक होने के कारण इन्हें कम ताप 0C – 1C पर संरक्षित किया जाता है l

MasterJEE Online Solutions for Class-8 Science Chapter 9 फसल उत्पादन भोजन. If you have any suggestions, please send to us as your suggestions are very important to us.

CONTACT US :
IMPORTANT LINKS :
error: Content is protected !!