किशोरावस्था : कक्षा 8 विज्ञान पाठ 8

up board solutions class 8

Solution for SCERT UP Board book आओ समझें विज्ञान ( विज्ञान भारती III ) कक्षा 8 पाठ 8 किशोरावस्था solution pdf. If you have query regarding Class 8 Aao samjhe vigyan Vigyan bharti III chapter 8 Kishoravastha, please drop a comment below.

किशोरावस्था

Exercise ( अभ्यास )

1- निम्नलिखित प्रश्नों में से सही विकल्प छठकर अपनी अभ्यास पुस्तिका में लिखिए –

क. किशोरावस्था की अवधि है –
अ. 0-5 वर्ष
ब. 6 – 11 वर्ष
स. 11 – 19 वर्ष (✔️)
द. 20 – 50 वर्ष

ख. एस्ट्रोजन है –
अ. अंत: स्त्रावी ग्रंथि
ब. स्त्री हार्मोन (✔️)
स. पुरुष हार्मोन
द. प्रजनन विधि

ग. सामान्यत: ऋतुस्त्राव प्रारंभ होता है –
अ. 11- 13 वर्ष में (✔️)
ब. 20 – 25 वर्ष में
स. 45 – 50 वर्ष में
द. कभी नहीं

घ. किशोरावस्था में स्वास्थ्य पोषण से संबंधित योजनाएं हैं –
अ. समेकित बाल विकास कार्यक्रम
ब. राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम
स. सर्व शिक्षा अभियान ग्राम स्वास्थ्य पोषण दिवस
द. उपरोक्त सभी ( ✔️)

ड. विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जाता है –
अ. 31 मई
ब. 5 जून
स. 11 जुलाई (✔️)
द. 13 अक्टूबर

2- रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए –

क. जनरल परिपक्वता — जननांग — में आती है l
ख. किशोरों के गले में स्वर यंत्र के उभार को — कंठमणि – कहा जाता है l
ग. युग्मनज का पोषण — गर्भ– – में होता है l
घ. अधिक मदिरा का सेवन, व्यक्ति के — तंत्रिकातंत्र— को प्रभावित करता है l
ड. मिशन इंद्रधनुष का उद्देश सभी बच्चों का — टीकाकरण — करना है l

3- निम्नलिखित कथनों में सही कथन पर (✔️) और गलत कथन पर (❌️) का चिन्ह लगाइए –

क. पहले ऋतु स्त्राव को रजोदर्शन कहते है l (✔️)
ख. द्वितीयक लैंगिक लक्षण शैशवावस्था में दिखाई देते हैं (❌️ )
ग. लिंग गुणसूत्र ( x )स्त्रियों में पाया जाता है l (✔️)
घ. पुरुष हार्मोन ” टेस्टोस्टेरॉन ” है l ( ✔️ )
ड. धूम्रपान अधिक करने से श्वास संबंधित रोग हो जाते हैं (✔️)

4- निम्नलिखित के सही जोड़े बनाइए –

   स्तंभ क.       स्तंभ  ख. 
क. शुक्राणु  -- अंतः स्रावी ग्रंथि
ख. अंडाणु  -- अंडाशय
ग. हार्मोन  -- अंतः स्रावी ग्रंथि
घ. स्वर परिवर्तन -- स्वर यंत्र
ड. दाढ़ी मूछ निकलना - द्वितीयक लैंगिक लक्षण

5- निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर दीजिए –

प्रश्न क. किशोरावस्था में होने वाले शारीरिक तथा मानसिक परिवर्तनों का उल्लेख कीजिए |

उत्तर – किशोरावस्था में होने वाले शारीरिक तथा मानसिक परिवर्तन निम्न है – जैसे – लंबाई में वृद्धि, शारीरिक बनावट में परिवर्तन, स्वेद एवं तैल ग्रंथियों में सक्रियता, जननांगों की परिपक्वता,चिंतन शीलता, संवेदनशीलता, भावुकता, आदि परिलक्षित होते हैं l

प्रश्न ख. द्वितीयक लैंगिक लक्षण किसे कहते हैं तथा यह किस प्रकार नियंत्रित होते हैं ?

उत्तर – जननांगों के आधार पर जन्म के समय से ही शिशु को बालक या बालिका के रूप में पहचाना जाता है परंतु कुछ ऐसे लक्षण जो किशोरावस्था के समय विकसित होते हैं l पुरुष तथा स्त्री में अंतर को स्पष्ट करने वाले लक्षण को द्वितीय लैंगिक लक्षण कहते हैं l जैसे – लड़कों के चेहरे पर दाढ़ी मूछ तथा लड़कियों में स्तनों का विकास आदि l
नियंत्रण – यह अंत: स्त्रावी ग्रंथियों में स्त्रावित हार्मोन्स द्वारा नियंत्रित होता है l

प्रश्न ग. किशोरावस्था में व्यक्तिगत सफाई के महत्व को स्पष्ट कीजिए –

उत्तर – किशोरावस्था में व्यक्तिगत सफाई का महत्व – किशोरावस्था में स्वेद एवं तेल ग्रंथियों की क्रिया के बढ़ जाने से शरीर से गंध आने लगती है | गंदगी बने रहने की स्थिति में चर्म रोग, खुजली तथा अन्य यौन रोग ध्वनि की आशंका बनी रहती है l किशोरावस्था में संतुलित आहार का करना तथा व्यक्तिगत स्वच्छता का पालन करना बहुत महत्वपूर्ण है l

प्रश्न घ. युग्मनज में लिंग निर्धारण किस प्रकार होता है समझाइए l

उत्तर – मनुष्य की प्रत्येक कोशिका के केंद्रक में 23 जोड़ा ( अर्थात 46) गुणसूत्र होते हैं पुरुषों में x और y गुणसूत्र होते हैं, जबकि स्त्रियों में x गुणसूत्र होते हैं पुरुषों का x या y गुणसूत्र जब स्त्रियों के x गुणसूत्र से मिलता है तो युग्मनज में लिंग निर्धारण होता है l

प्रश्न ड. किशोरावस्था में पोषण का क्या महत्व है किशोर तथा किशोरियों के पोषण में सुधार लाने हेतु किए जाने वाले क्रियाकलाप पर प्रकाश डालिए l

उत्तर – किशोरावस्था में पोषक आहार लेने से शरीर तेजी से वृद्धि एवं विकास करता है | किशोर तथा किशोरियों के पोषण में सुधार लाने हेतु समेकित बाल दिवस , वृद्धि निगरानी, अनुपूरक पोषक आहार, स्वास्थ्य जांच व पोषण स्वास्थ्य परामर्श किशोरी व गर्भवती मां की देखभाल आदि कार्यक्रम आयोजित किये जाते हैं |

प्रश्न च . धूम्रपान एवं मादक द्रव्यों से होने वाले दुष्प्रभावो का वर्णन कीजिए l

उत्तर – एक प्रसिद्ध मनोवैज्ञानिक स्टेनले हॉल के अनुसार किशोरावस्था बड़े संघर्ष,तनाव, तूफान तथा विरोध की अवस्था है इस अवस्था में किशोर -किशोरिया तनायुक्त, भ्रमित तथा असुरक्षित महसूस करते हैं इन तनाव से उबरने के लिए किशोर अनजाने में ही मादक पदार्थ जैसे- तंबाकू, गुटखा, खैनी, बीड़ी, सिगरेट, शराब आदि का सेवन करने लगते हैं और धीरे-धीरे इन के आदी हो जाते हैं | इनके प्रयोग से शरीर के तंत्रिका तंत्र पर सीधा प्रभाव पड़ता है इनका सेवन व्यक्ति को कमजोर तथा संवेदनशील बना देता है l

प्रश्न छ. जनसंख्या वृद्धि के कारण तथा उससे होने वाले कुप्रभाव को समझाइए –

उत्तर – भारत में बढ़ती हुई जनसंख्या के कुछ मुख्य कारण- देश की गर्म जलवायु, विवाह की अनिवार्यता, कम उम्र में विवाह, योग शिक्षा का अभाव, परिवार योजना के उपायों की सीमित जानकारी, चिकित्सा सुविधाओं तथा रोगों की रोकथाम के उपाय में बढ़ोतरी l बढ़ती हुई जनसंख्या के कारण प्रकृति संसाधनों पर लगातार दबाव बढ़ता जा रहा है, फल स्वरुप प्रति व्यक्ति भोजन, पानी व भूमि चिकित्सा शिक्षा एवं देश के सामाजिक आर्थिक विकास की गति पर भी बुरा प्रभाव पड़ता है l

जनसंख्या वृद्धि के कुप्रभाव –
क. प्रति व्यक्ति आय में कमी ( निर्धनता )
ख. खाद्य सामग्री की कमी ( महंगाई )
ग. आवाज सुविधाओं में कमी
घ. पर्याप्त आहार न मिल पाने से कुपोषण
ड. स्वास्थ्य अस्तर का निम्न होना
च. शिक्षा चिकित्सा तथा परिवहन संबंधित सुविधाओं की कमी
छ. रोजगार में कमी
ज. अपराध में वृद्धि

प्रश्न ज. परिवार निरोध विधियो का प्रसार किस प्रकार किया जा सकता है ?

उत्तर -परिवार निरोधक विधियों का प्रसार मनुष्य में परिवार नियोजन उद्देश्य की जागरूकता से किया जा सकता है जैसे – हम दो हमारे दो का प्रचलित नारा दिया गया है | दो बच्चों के बीच कम से कम 3 वर्षों का अंतराल रखना, बेटा हो या बेटी दोनों को सामान शिक्षा उपलब्ध करा कर उनको शिक्षित बनाना, वर्तमान समय में चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, ग्रामीण क्षेत्रों में परिवार कल्याण कार्यक्रम को सार्थक के प्रति जागरूकता लाकर आदि प्रसार किया जा सकता है l

प्रश्न झ. परिवार कल्याण कार्यक्रम के अंतर्गत संचालित योजनाओं को लिखिए l

उत्तर – परिवार कल्याण कार्यक्रम के संचालित योजनाएं निम्न है l

  1. मिशन इंद्रधनुष – इसका उद्देश्य सन 2020 तक भारत के सभी बच्चों का टीकाकरण करना, इंद्रधनुष के सात रंगों को प्रदर्शित करने वाला ‘ मिशन इंद्रधनुष ‘ मुख्य रूप से सात ( डिप्थीरिया काली खांसी टिटनेस पोलियो तपेदिक खसरा तथा हेपिटाइटिस बी) बीमारियों के टीके बच्चों को लगाकर उन्हें इन बीमारियों से सुरक्षित रखना है |
  2. जननी सुरक्षा योजना– इसका उद्देश्य गरीब गर्भवती महिलाओं को संस्थागत प्रसूति कराने के लिए हजार रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान करना है l
  3. राष्ट्रीय एंबुलेंस सेवा – इसका उद्देश्य दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में गर्भवती महिलाओं तथा नवजात शिशु को 24 घंटे निशुल्क चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराना है l

MasterJEE Online Solutions for Class-8 Science Chapter 8 किशोरावस्था. If you have any suggestions, please send to us as your suggestions are very important to us.

CONTACT US :
IMPORTANT LINKS :
RECENT POSTS :

This section has a detailed solution for all SCERT UTADAR PRADESH textbooks of class 1, class 2, class 3, class 4, class 5, class 6, class 7 and class 8, along with PDFs of all primary and junior textbooks of classes . Free downloads and materials related to various competitive exams are available.

error: Content is protected !!