पशुपालन : कृषि विज्ञान पाठ 4

up board solutions class 8

Solution for SCERT UP Board textbook कृषि विज्ञान कक्षा 8 पाठ 4 पशुपालन solution pdf. If you have query regarding Class 8 Krishi Vigyan Agriculture chapter 4 Pashupalan, please drop a comment below.

पशुपालन

Exercise ( अभ्यास )

प्रश्न 1: सही विकल्प के सामने सही (✓) का चिन्ह लगाइये।

(i) गरीब की गाय कहलाती है –
(क)गाय
(ख) भैंस
(ग) भेड़
(घ) बकरी

(ii) संदूषित दूध से फैलने वाली बीमारी है –
(क) एड्स
(ख) कैंसर
(ग) टीo वीo
(घ) पोलियो

(iii) गाय की नस्ल नहीं है –
(क) गंगातीरी
(ख) मिनोरका
(ग) नागौरी
(घ) भदावरी

(iv) सिन्धी गाय है –
(क) दुधारू गाय की नस्ल
(ख) दुकाजी गाय की नस्ल
(ग) भारवाही गाय की नस्ल
(घ) भैंस की नस्ल

(v) स्वच्छ दूध में होना चाहिए –
(क) न्यूनतम जीवाणु
(ख) अवांछनीय गन्ध
(ग) अधिक वसा
(घ) कम पानी

(vi)सबसे मीठा दूध होता है –
(क) गाय का दूध
(ख) भैंस का दूध
(ग) बकरी का दूध
(घ) माँ का दूध

प्रश्न 2: निम्नलिखित वाक्यों में रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए।

क) पुआल और भूसा अदलहनी सूखा चारा है ।

ख) वरण प्रजनन की आधार शिला है।

ग) केचुए को प्रकृति का हलवाहा कहते हैं।

घ) मुँहपका खुरपका बीमारी विषाणु से फैलती है।

ङ) जोंक एक बाह्य परजीवी जन्तु है।

च) दूध में मिठास दुग्ध शर्करा के कारण होती है।

छ) अमृत महल भारवाही गाय की नस्ल है।

ज) दूध एक संपूर्ण आहार है।

प्रश्न 3: निम्नलिखित कथनों में सही पर (✓) तथा गलत पर (X) का निशान लगाइये।

(क) गाय के दूध का पीला रंग कैरोटीन के कारण होता है।( ✓ )
(ख) वरण का तात्पर्य अनिच्छित पशुओं को अलग करना है। ( X )
(ग) भ्रूण प्रत्यारोपण तकनीक से एक वर्ष में एक ही गाय के 10-12 बच्चे प्राप्त किये जा सकते हैं। ( X )
(घ) मक्का दलहनी चारा है। ( X )
(ङ)पूर्ण हस्त दोहन, दूध दोहन की सर्वोत्तम विधि है। ( ✓ )
(च)पशु के थूथन व मुँह का नम रहना उसके बीमार रहने का लक्षण है। ( X )
(छ) देश में कुल दुग्ध उत्पादन का 55% हिस्सा गाय से प्राप्त होता है। ( X )

प्रश्न 4: दूध क्यों फटता है ?

उत्तर : जब किसी तरह जीवाणु दूध में पहुंच जाते हैं जो कि जीवाणुओं की वृद्धि के लिए सर्वोत्तम माध्यम है तो दूध में जीवाणुओं की संख्या में अत्यधिक वृद्धि के कारण दूध में अम्लता बढ़ जाती है जिससे दूध फट जाता है।

प्रश्न 5: यदि आपकी भैंस प्रतिदिन 10 लीटर दूध देती है तो उसे आप जीवन निर्वाह एवं दुग्ध उत्पादन हेतु कुल कितने किग्रा दाना प्रतिदिन खिलायेंगे ?

उत्तर : भैंस के जीवन निर्वाह के लिए 2 किग्रा दाना देना चाहिए और भैंस के प्रति 2.5 किग्रा दूध पर एक किग्रा दाना के हिसाब से 10 लीटर दूध के लिए 4 किग्रा दाना अलग से देना चाहिए। इस प्रकार कुल मिलाकर उसे 2 + 4 = 6 किग्रा दाना देना चाहिए।

प्रश्न 6 : आपकी गाय अफरा रोग से ग्रसित है, तो आप क्या करेंगे?

उत्तर : अफरा के प्राथमिक उपचार के लिए निम्न तरीके का उपयोग करेंगे –
i) एक दो दिन के लिए हरा चारा नहीं खिलाएंगे
ii) एक लीटर अलसी के तेल में 50 ग्राम हर्र व 100 ग्राम काला नमक मिलाकर दो खुराक बनाएंगे और प्रत्येक 6 घंटे के अंतराल पर पिलाएंगे
iii) पशु चिकित्सक की सहायता लेंगे

प्रश्न 7 : यदि बछड़े के मल (गोबर) में गोल कृमि (पेट का केचुआ) है तो इससे बचने हेतु क्या उपाय करेंगे?

उत्तर : यदि बछड़े के गोबर में गोल कृमि है तो उसे कृमिहर दवाएं ( पिपराजीन , नीलवार्म फोर्ट , बेनमिंथ ,निलजान तथा टोलजान ) पशु चिकित्सक के परामर्श पर खिलाएंगे ।

प्रश्न 8 : किन्हीं दो नस्लों के गाय के चित्र बनाइए और उनमें दो अन्तर बताइये।

उत्तर : साहीवाल – भारी भरकम शरीर , छोटी टांगें, पतली एवम् ढीली – ढाली खाल , चौड़ा माथा , छोटे और मोटे सींग , लालिमा लिए हुए भूरा रंग लंबी पूंछ तथा बड़े बड़े थन औसत दुग्ध 1718 किग्रा / व्यांत

जर्सी – इस जाति का रंग हल्का लाल , सफेद धब्बे युक्त शरीर विकसित और चुस्त होता है । सींग छोटे तथा अंदर की ओर झुके हुए होते हैं। एक व्यांत में 4600 लीटर दूध देती है ।

प्रश्न 9 : स्तम्भ ‘क’ एवं स्तम्भ ‘ख’ में दिए गये तथ्यों का सही-सही मिलान कीजिए –


उत्तर

स्तंभ ‘ क ‘स्तंभ ‘ ख ‘
मुंहपका – खुरपकाविषाणु
अफरापेट में गैस हो जाना
पेचिस (खूनी दस्त)सड़ा गला दूषित चारा या पानी

प्रश्न 10: पशुधन विकास के मूलभूत तत्व लिखिए।

उत्तर : पशुधन विकास के मूलभूत तत्त्व –
(i) प्रजनन
(ii) पोषण
(iii) पशु प्रबंधन
(iv) पशुओं की सामान्य बीमारियां आदि हैं

प्रश्न 11: आहार किसे कहते हैं? आहार कितने प्रकार का होता है उत्पादन आहार के बारे में लिखिए।

उत्तर : पशुओं को 24 घंटे के अंतर्गत दिए जाने वाला दाना , चारा व पानी की कुल मात्रा को पशु आहार कहते हैं । पशु आहार 4 प्रकार के होते हैं –
i) जीवन निर्वाह आहार
ii) उत्पादन आहार
iii) कार्य आधारित आहार
iv) संतुलित आहार
उत्पादन आहार – पशुओं को वृद्धि और उत्पादन के उद्देश्य से जीवन निर्वाह आहार के अतिरिक्त जो खिलाते हैं उसे उत्पादन आहार कहते हैं।

प्रश्न 12: स्वच्छ दूध किसे कहते है ? दूध में संदूषण के स्रोतों का उल्लेख कीजिए।

उत्तर : दूध , जो स्वस्थ पशु से स्वस्थ वातावरण में प्राप्त हो और जिसमें जीवाणुओं की संख्या न्यूनतम हो , उसे स्वच्छ दूध कहते हैं ।
दूध में संदूषण के स्रोत-

आंतरिक कारकबाह्य कारक
थनैला ग्रस्त थनगाय (थन , त्वचा)
शुरुआती दूधदूध दुहने वाला
दूध के बर्तन
पशु बाड़ा
दूध दुहने का तरीका
आहार व पानी

प्रश्न 13: बीमार पशु के लक्षण लिखिए तथा किसी एक बीमारी का वर्णन कीजिए।

उत्तर : बीमार पशु के निम्नलिखित लक्षण हैं –
(i) पशु का थूथन और मुंह सूख जाते हैं।
(ii) पशु धीरे धीरे चारा खाना बंद कर देते हैं।
(iii) पशु के कान ढीले होकर लटक जाते हैं ।
(iv) पशु का गोबर अत्यधिक कड़ा या पतला हो जाता है।

पेचिश (खूनी दस्त)
पेचिश एक सामान्य रोग है। पेचिश पशुओं को सड़ा-गला या बासी और दूषित चारा खाने या दूषित पानी पीने से होती है। अधिक गर्मी या सर्दी लगने से भी कभी-कभी पशुओं को पेचिश हो जाती है।

लक्षण
i) पेचिश में पशु लाल आँत मिला गोबर करता है।
ii) पशु के पेट में दर्द रहता है
iii) पेचिश से ग्रस्त पशु की पुतली पीली पड़ जाती है।
iv) गोबर के साथ बिना पचा हुआ चारा भी निकलता है।

उपचार
i) 500 मिली अरंडी का तेल एक बार में पिलाकर पेट की सिकाई करने से पेचिश में लाभ प्राप्त होता है
ii) पेचिश होने पर अपने पशु की चिकित्सा हेतु पशु चिकित्सक से सम्पर्क करना चाहिए।

MasterJEE Online Solutions for Class 8 Agriculture Chapter 4 पशुपालन,. If you have any suggestions regarding पशुपालन, please send to us as your suggestions are very important to us.

CONTACT US :
RECENT POSTS :

This section has a detailed solution for all SCERT UTADAR PRADESH textbooks of class 1, class 2, class 3, class 4, class 5, class 6, class 7 and class 8, along with PDFs of all primary and junior textbooks of classes . Free downloads and materials related to various competitive exams are available.

error: Content is protected !!