प्राकृतिक आपदाएं : कृषि विज्ञान पाठ 3

up board solutions class 8

Solution for SCERT UP Board textbook कृषि विज्ञान कक्षा 8 पाठ 3 प्राकृतिक आपदाएं solution pdf. If you have query regarding Class 8 Krishi Vigyan Agriculture chapter 3 Prakritik Aapdaye, please drop a comment below.

प्राकृतिक आपदाएं

Exercise ( अभ्यास )

प्रश्न 1: सही उत्तर पर सही ( ✓ ) निशान लगाइए –

(i) चक्रवात को चीनी भाषा में क्या कहते हैं ?
(क) हरिकेन
(ख) साइक्लोन
(ग) टारनिडो
(घ) टाइफून

(ii) कौन सी प्राकृतिक आपदा है ?
(क) आंधी
(ख) तूफान
(ग) चक्रवात
(घ) उपरोक्त सभी

प्रश्न 2: निम्नलिखित वाक्यों में खाली जगह भरिये –

(क) आंधी चलने पर वायु की गति लगभग 85 – 95 किमी प्रति घण्टा होती है।

(ख) वायु उच्च वायुदाब से निम्न वायु दाब की ओर चलती है।

(ग)तूफान आने पर हवा की गति लगभग 95 – 115 किमी प्रति घण्टा होती है।

(प) वायु के गोलाकार या चक्करदार चलने को चक्रवात कहते हैं।

प्रश्न 3: स्तम्भ ‘क’ को स्तम्भ ‘ख’ से मिलाइये।

स्तंभ ‘ क ‘स्तंभ ‘ ख ‘
चीनटाइफून
मैक्सिको की खाड़ीहरिकेन
अफ्रीकाटारनीडो
बंगाल की खाड़ीसाइक्लोन
भारततूफान

प्रश्न 4: आंधी एवं तूफान में क्या अन्तर है ?

उत्तर : आंधी – जब हवाऐं गर्म होकर ऊपर की ओर उठती हैं तो नीचे खाली स्थान में निम्न वायुदाब का क्षेत्र उत्पन्न होने के कारण ठंडी हवाएं बहुत तीव्र गति (लगभग 85 -95किमी/घंटा) से खाली स्थान की ओर आती हैं। वायु के इस तीव्र गति से चलने को आंधी कहते हैं।

तूफान -जब हवाएं आंधी की तुलना में और अधिक तीव्र गति लगभग 95 – 115 किमी/घंटा की चाल से चलने लगती हैं तो इसे तूफान कहते हैं ।

प्रश्न 5: चक्रवाती हवाएं चलने का कारण बताइए।

उत्तर : चक्रवाती हवाएं चलने का मुख्य कारण , जब गर्मी के कारण हवाएं गर्म होकर ऊपर की ओर चली जाती हैं तो नीचे निम्न वायुदाब का क्षेत्र उत्पन्न हो जाता है जिसके कारण आस पास से ठंडी वायु आकर गोलाई से घूमने लगती है , जो चक्रवात का कारण बनती है ।

प्रश्न 6:तूफान से कौन-कौन सी हानियाँ होती है ?

उत्तर : तूफान के आने से निम्नलिखित हानियां होती हैं –
(i) यातायात में बाधा
(ii) पेड़ों का उखड़ जाना और मकानों का गिर जाना
(iii) बिजली के तार का क्षतिग्रस्त हो जाना
(iv) दूर संचार का प्रभावित हो जाना

प्रश्न 7: निम्नलिखित पर टिप्पणी लिखिए-

उत्तर: (क) चक्रवात – जब वायु गर्म होकर ऊपर उठती है तो नीचे निम्न वायुदाब का क्षेत्र उत्पन्न होने पर ठंडी वायु नीचे आकर केंद्र तक न पहुंच कर दायीं दिशा व बायीं दिशा की तरफ मुड़कर गोलाई में घूमने लगती है , चक्रवात कहते हैं।

(ख) टिड्डी दल का प्रकोप – टिड्डी एक हानिकारक कीट है । ये करोड़ों की संख्या में कई किलोमीटर तक लंबे दल बनाकर उड़ती हैं और मार्ग में पड़ने वाले हरे भरे खेतों को खाकर पूर्ण रूप से नष्ट कर देते हैं । टिड्डी नियंत्रण हेतु राष्ट्रीय स्तर पर भारत सरकार द्वारा टिड्डी नियंत्रण संगठन की स्थापना की गई है जो पूरे वर्ष भर इसके प्रजनन , उत्पत्ति और फैलाव के बारे में जानकारी एवम् नियंत्रण के उपाय करता है ।

(ग) नीलगाय – नीलगाय एक वन्य – पशु है । इसको पाड़ा व घोड़रोज या वनरोज के नाम से भी जाना जाता है । ये प्रायः झुंड में पाये जाते हैं । नीलगाय बहुत ही थोड़े समय में खड़ी फसल को नष्ट कर देते हैं ।वन्य पशु संरक्षण के अंतर्गत इनका शिकार करना वर्जित है।

प्रश्न 8: आँधी और तूफान से होने वाले लाभ तथा हानियों का वर्णन कीजिए ?

उत्तर : आंधी व तूफान से होने वाले लाभ निम्नलिखित हैं –
i) वायु के स्थान परिवर्तन से वायुमंडल शुद्ध हो जाता है।
ii) भारत में वर्षा , जाड़े के दिनों में चक्रवाती हवाओं के कारण होती है जो फसलों को अत्यधिक लाभ पहुंचाती है।

आंधी और तूफान से होने वाली हानियां निम्नलिखित हैं –
i) यातायात में बाधा
ii) पेड़ों का उखड़ जाना और मकानों का गिर जाना
iii) बिजली के तार का क्षतिग्रस्त हो जाना
iv) दूर संचार का प्रभावित हो जाना

प्रश्न 9: नीलगाय और टिड्डी दल फसल को कैसे हानि पहुंचाते हैं ? वर्णन कीजिए।

उत्तर : टिड्डी एक हानिकारक कीट है । ये करोड़ों की संख्या में कई किलोमीटर तक लंबे दल बनाकर उड़ती हैं और मार्ग में पड़ने वाले हरे भरे खेतों को खाकर पूर्ण रूप से नष्ट कर देते हैं ।

नीलगाय छोटे पौधे , पेड़ों की पत्तियां , अरहर , चना , मटर व अन्य दलहनी फसलों की खेती को बहुत ही थोड़े समय में खाकर नष्ट कर देती हैं । इनसे सुरक्षा का कोई उपाय नहीं है क्योंकि ऊंची बाड़ को भी छलांग लगाकर पार कर जाते हैं।

प्रश्न 10: उत्तरांचल की सन 2013 की प्राकृतिक आपदा का वर्णन कीजिए।

उत्तर : जून 2013 में उत्तरांचल में एकाएक बादल फटने के कारण मूसलाधार वर्षा हुई । तेज एवम् लगातार बारिश के कारण भूस्खलन होने लगा और जल्द ही बाढ़ आ गई । बाढ़ के पानी का प्रवाह केदारनाथ धाम के आस पास इतना अधिक था कि कई गांव पूरे पूरे बह गए और इस त्रासदी में असीमित जन – धन की हानि हुई ।

MasterJEE Online Solutions for Class 8 Agriculture Chapter 3 प्राकृतिक आपदाएं. If you have any suggestions regarding प्राकृतिक आपदाएं, please send to us as your suggestions are very important to us.

CONTACT US :
RECENT POSTS :

This section has a detailed solution for all SCERT UTADAR PRADESH textbooks of class 1, class 2, class 3, class 4, class 5, class 6, class 7 and class 8, along with PDFs of all primary and junior textbooks of classes . Free downloads and materials related to various competitive exams are available.

error: Content is protected !!